मध्यप्रदेश का परिचय

 भारत के मध्य में स्थित मध्यप्रदेश(madhya pradesh ) भारतीय सभ्यता संस्कृति में महत्वपूर्ण स्थान रखता हैं। मध्यप्रदेश को भारत (india) का हृदय प्रदेश  कहा जाता हैं, क्योकि यह भारत के बीच में हृदय के समान स्थित हैं। मध्यप्रदेश में सोयावीन की अधिक मात्रा में उत्पादन के कारण इसे सोया प्रदेश भी कहा जाता हैं
मध्यप्रदेश की स्थापना 1 नवम्बर  1956 को हुई थी एवं मध्यप्रदेश का वर्तमान स्वरूप 1 नवम्बर 2000 को छत्तीसगढ़ के अलग होने के बाद आया है। विभाजन के पूर्व मध्यप्रदेश भारत का सबसे बड़ा राज्य था लेकिन विभाजन के बाद राजस्थान सबसे बड़ा राज्य हो गया और मध्यप्रदेश दूसरे स्थान पर है।
 मध्यप्रदेश का क्षेत्रफल लगभग 308252 वर्ग किमी है जो कि भारत के कुल क्षेत्रफल का 9.38 प्रतिशत है। मध्यप्रदेश की उत्तर से दक्षिण की लंबाई 605 किमी और पूर्व से पश्चिम तक की लंबाई 870 किमी है। राज्य की भौगोलिक स्थिति 21'6 उत्तरी अक्षांश से 26'30 उत्तरी अक्षांश तक एवं 74' पूर्वी देशांतर से 82'47 पूर्वी देशांतर तक है। मध्यप्रदेश राज्य की सीमा पाँच राज्यों की सीमाओं को स्पर्श करती है जिसमें राजस्थान, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र एवं गुजरात हैं।
मध्यप्रदेश की जनसंख्या वर्ष 2011 के अनुसार 62597565 है जो कि भारत का 6 वाँ बड़ा जनसंख्या वाला राज्य है। राज्य का जनसंख्या घनत्व 236 किमी है। मध्यप्रदेश का लिंगानुपात 930 है।
मध्यप्रदेश की साक्षरता दर 70.63% है जिसमें सर्वाधिक जबलपुर82.47% की एवं इन्दौर 82.33% है। अलीरजपुर मध्यप्रदेश का सबसे कम साक्षर जिला है 36.26% । मध्यप्रदेश में पुरुषों की साक्षरता दर 80.5 %  एवं महिला की साक्षरता दर 60 % हैं। पुरुषों की साक्षरता इंदौर 89.22% में तथा महिलाओं की साक्षरता भोपाल 76.57% में सबसे अधिक है जबलपुर दोनों महिला पुरुष की साक्षरता में दूसरे स्थान पर है।
मध्यप्रदेश में बहुत सी नदी प्रवाहित होती है जो इस राज्य को अपने जल से जीवन प्रदान करती है। नर्वदा नदी मध्यप्रदेश की सबसे बड़ी नदी है इसे मध्यप्रदेश की जीवन रेखा कहा जाता है नर्वदा नदी अमरकंटक से निकलती हुई पश्चिम दिशा में बहती है और खंवात की खाड़ी में गिरती है। मध्यप्रदेश की अन्य महत्वपूर्ण नदीयों में चम्बल, सोन, ताप्ती, बेतवा, क्षिप्रा, तवा, वेनगंगा, काली सिंध  इत्यादि।
मध्यप्रदेश वन्य प्राणियों से सम्पन्न राज्य है, यहाँ  सबसे अधिक राष्ट्रीय उद्यान एवं वन्य जीव अभयारण्य है जिसमें विभिन्न प्रकार के वन्यजीव पाए जाते हैं। मध्यप्रदेश के राष्ट्रीय उद्यान में कान्हा किसली, बाधवगड, पेंच सतपुडा, रीवा एवं जीवाश्म आदि प्रमुख हैं। अभयारण्यों में चम्बल, केन करेरा, धाटीगाव, पलनपुर कूनो इत्यादि अभयारण्य है।


Previous
This is the oldest page

1 comments:

Click here for comments
10 अगस्त 2017 को 2:39 pm ×

a

Selamat kumar anand shinde.in dapat PERTAMAX...! Silahkan antri di pom terdekat heheheh...
Reply
avatar
admin
Thanks for your comment