मध्यप्रदेश की प्रमुख नदियाँ RIVER OF MADHYA PRADESH

tag - samanya gyan, general knowledge, Hindi, Madhya Pradesh.

मध्य पदेश की प्रमुख नदिया

नर्मदा नदी


  • नर्मदा नदी मध्यप्रदेश की सबसे बड़ी नदी है तथा भारत की पांचवें नम्बर की बड़ी नदी है।
  • यह मध्यप्रदेश की जीवन रेखा कहलाती है।
  • नर्मदा नदी का उद्गम अमरकंटक मैकल पर्वत श्रेणी से हुआ है जो अनूपपुर जिले में है।
  • यह पूर्व से पश्चिम की तरफ बहती है
  • नर्मदा नदी की कुल लंबाई 1312 किमी. है तथा मध्यप्रदेश में 1077 किमी।
  • नर्मदा नदी डेल्टा नहीं बनाती यह एस्चुरी का बनाती हैं।
  • यह तीन राज्यों में बहते हुए -( मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात ) अरब सागर में खंभात की खाड़ी में समाहित हो जाती है।
  • नर्मदा नदी के अन्य नाम - रेवा, शंकरी, नामोदास, सोमोदेवी।
  • इसकी 41 सहायक नदियाँ हैं जिसमें प्रमुख है - तवा, हिरण, शक्कर, दूधी, करजन, शेर, बनास, मान इत्यादि।
  • नर्मदा नदी द्वारा निर्मित जलप्रपात - कपिल धारा एवं दुग्ध धारा जलप्रपात ( अनूपपूर ),धुआंधार जलप्रपात ( भेड़ाघाट, जबलपुर ), सहस्रधारा जलप्रपात ( महेश्वर, खरगोन ), दर्धी जलप्रपात, मानधाता जलप्रपात।
  • नर्मदा नदी पर निर्मित बांध - इंदिरा सरोवर ( खंडवा ), सरदार सरोवर ( नवेगाव, गुजरात), महेश्वर परियोजना ( महेश्वर) बरगी परियोजना ( बरगी,जबलपुर), ओमकरेश्वर परियोजना।
  • नर्मदा नदी के तटीय शहर - अमरकंटक, जबलपुर, नरसिंहपुर, होशंगाबाद, निमाड, मंडला, ओमकारेश्वर, महेश्वर,बडवानी, झाबुआ, धार,बडवाह, सांडिया इत्यादि। 
चंबल नदी
  • यह मध्यप्रदेश की दूसरी बड़ी नदी है, इसे चर्मावती भी कहा जाता हैं।
  • चंबल नदी का उद्गम इंदौर की महू तहसील की  जानापाव पहाड़ी से हुआ है।
  • यह नदी उत्तर पूर्व की ओर बहते हुए उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में यमुना नदी मे मिल जाती है।
  • चंबल नदी की कुल लंबाई 965 किमी है।
  • यह मध्यप्रदेश तथा राजस्थान की सीमा बनाती हुई उप्र में प्रवेश करती है। यह मप्र मे दो बार प्रवेश करती है।
  • मध्यप्रदेश में यह महू, धार, रतलाम, शिवपुरी, भिंड मुरैना तथा मंदसौर के समीप से बहती है।
  • चंबल नदी की सहायक नदियाँ - कालीसिंध, पार्वती, बनारस और पुनासा है।
  • चंबल नदी भिंड मुरैना के क्षेत्रों में खड्डों एवं बीहड़ों का निर्माण करती है।
  • पुनासा जलप्रपात चंबल नदी द्वारा निर्मित  जलप्रपात है
  • चंबल नदी पर निर्मित बांध - गांधी सागर बांध ( मंदसौर ), राणा प्रताप सागर बांध ( चित्तौड़गढ़ राजस्थान ), जवाहर सागर बांध ( कोटा, राजस्थान )
ताप्ती नदी
  • ताप्ती नदी बैतूल जिले की मुलताई तहसील की सतपुडा पर्वत श्रेणी से निकलती है।
  • यह मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र तथा गुजरात में कुल 724 किमी  बहते हुए सूरत के निकट खंभात की खाड़ी में मिलती है।
  • इसकी सहायक नदियाँ पूर्णा, शिवा तथा बोरी है।
  • ताप्ती नदी नर्मदा नदी के समानांतर पूर्व से पश्चिम ओर बहती है, एव डेल्टा न बनाकर एस्चुरी बनाती है।
  • ताप्ती नदी के समीप मुलताई बुरहानपुर शहर है।
  • ताप्ती नदी पर मध्यप्रदेश एवं महाराष्ट्र की संयुक्त परियोजना - अपर ताप्ती, लोअर ताप्ती।
सोन नदी
  • सोन नदी को स्वर्ण नदी भी कहा जाता है।
  • सोन नदी का नाम उद्गम अनूपपुर जिले के अमरकंटक से हुआ है।
  • यह मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश तथा बिहार में बहती हुई पटना के समीप दीनापुर में गंगा में मिल जाती है।
  • सोन नदी की कुल लंबाई  780 किलोमीटर है।
  • इसकी सहायक नदियाँ - जोहिला
  • सोन नदी पर बाणसागर परियोजना निर्मित है जो शहडोल जिले के देवलोन पर स्थित है।
बेतवा नदी
  • इस नदी का पौराणिक नाम ब्रेतवती है।
  • बेतवा नदी रायसेन जिले के कुमारगांव की महादेव पर्वत श्रेणी से निकलती है।
  • यह मध्यप्रदेश उत्तर प्रदेश में कुल 480 किमी बहते हुए उप्र के हमीरपुर में यमुना नदी से मिल जाती है।
  • बेतवा नदी की सहायक नदियां - बीना, केन, धसान, सिंध, देनवा, कालीभिति तथा मालिनी इत्यादि।
  • विदिशा, सांची, ओरछा, गुना  इसके किनारे बसे शहर है।
  • बेतवा नदी पर राजघाट बांध तथा माताटीला बांध बने हुए है जिसमें मप्र एवं उप्र की संयुक्त सिचाई परियोजना है।
  • सिचाई परियोजना द्वारा भांडेर, दतिया, भिंड तथा ग्वालियर लाभान्वित हुए हैं।
क्षिप्रा नदी
  • यह नदी इंदौर के काकरी बारडी नामक पहाड़ी से निकलती है।
  • क्षिप्रा नदी उज्जैन, देवास जिलों में बहते हुए मंदसौर में चंबल नदी में मिल जाती है।
  • इस नदी की कुल लंबाई 195 किलोमीटर है।
  • क्षिप्रा नदी को मालवा की गंगा भी कहा जाता है।
  • इस नदी के किनारे उज्जैन में प्रसिद्ध महाकालेश्वर मंदिर स्थित है।
  • खान नदी क्षिप्रा की सहायक नदी है।
वेनगंगा
  • यह नदी सिवनी के परसवाडा पठार से निकलती है।
  • बेनगंगा नदी महाराष्ट्र में वर्धा नदी में मिल जाती है।
  • कन्हान, पेंच तथा बावनथडी इसकी सहायक नदी है।
  • बेनगंगा नदी पर अपर बेनगंगा, संजय सरोवर परियोजना है जो बालाघाट सिवनी में है।
तवा नदी
  • तवा नदी का उद्गम पचमढ़ी ( होशंगाबाद ) के महादेव पर्वत से है।
  • यह होशंगाबाद के निकट नर्मदा नदी में मिल जाती है।
  • तवा नदी की सहायक नदी मालिनी देनवा है।
  • इस नदी पर मध्यप्रदेश का सबसे बड़ा सड़क पुल है।
कालीसिंध नदी
  • यह नदी देवास जिले के विंध्याचल पर्वत से निकलती है।
  • इसकी लंबाई 150 किलोमीटर है।
  • यह शाजपुर एवं राजगढ़ जिलों में बहती हुई राजस्थान में चंबल नदी में मिल जाती है।
  • केन नदी
  • केन नदी विंध्याचल पर्वत से निकलती है
  • यह उत्तर की ओर बहती हुई उत्तर प्रदेश में यमुना नदी में मिल जाती है।
पार्वती नदी
  • यह सिहोर जिले के विंध्यपर्वत से निकलती है।
  • यह गुना में चंबल नदी में मिल जाती है।
शक्कर नदी
इसका उद्गम नरसिंगपुर जिला है
मध्य प्रदेश में और भी बहुत नदिया बहती है , हमारे द्वारा यहाँ कुछ महत्वपूर्ण नदियों की जानकारी देने का प्रयास किया गया है उम्मीद है यह आपके लिए उपयोगी होगी।  आपको यह जानकारी कैसी लगी या कुछ सुधार की आवश्यकता हो तो कमेंट बॉक्स में कॉमेंट जरूर करे।
Previous
Next Post »

9 comments

Click here for comments
बेनामी
18 जून 2016 को 5:59 pm ×

bahut badiya collection he lakin mujhe chahiye ki madhya pradesh me kaoun jila kab or kaun se jile se alag hokar bana

Reply
avatar
admin
बेनामी
4 नवंबर 2016 को 10:00 pm ×

bahut badiya collection he lakin mujhe chahiye ki madhya pradesh me kaoun jila kab or kaun se jile se alag hokar bana

Reply
avatar
admin
बेनामी
5 नवंबर 2016 को 1:07 pm ×

bahut hi shandar collection

Reply
avatar
admin
6 नवंबर 2016 को 11:58 pm ×

धन्यवाद जी , आपका स्वागत है

Reply
avatar
admin
28 नवंबर 2016 को 1:47 am ×

अति उत्तम आलेख

Reply
avatar
admin
बेनामी
4 दिसंबर 2016 को 8:10 pm ×

Jankari achchi aur upyogi hai pr mp ko bhut km cover karti krpya aisi aur jankari mp ke bare me de dhanvad

Reply
avatar
admin
7 जनवरी 2017 को 5:36 pm ×

Jankari bahut achchhi h
Thanks

Reply
avatar
admin
15 जनवरी 2017 को 3:28 am ×

Jankari satik hai but maping ka use kare to samjhne me aasani hoti hai..

Reply
avatar
admin
बेनामी
18 जनवरी 2017 को 5:09 am ×

Commendable

Reply
avatar
admin
Thanks for your comment